मोदी का ऐलान, अरब से ☾ रमज़ान से पहले आएँगे फँसे हुए भारतीय कामगार

शेयर करे मदद करें:

हैदराबाद की एक महिला जो नौकरी करने सऊदी अरब गई थी उसकी मौ’त वहां पर हो गई है। इस महिला के परिजनों ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद की गुहार की है ताकि मौत की परिस्थितियों का पता चल सके। परिजनों का कहना है कि महिला जहां काम करती थी वहां से उन्हें कोई सूचना नहीं दी जा रही है, और न ही वे लोग उसका शव भेज रहे हैं।

 

  • प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- सऊदी के प्रिंस ने सभी भारतीयों को रमजान से पहले छोड़ने का हमारा आग्रह मान लिया
  • मोदी ने कहा- हर चीज को चुनाव के चश्मे से देखने से कांग्रेस खराब हालत हुई


लखनऊ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब रविवार को उत्तर प्रदेश के भदोई में चुनाव प्रचार किया। मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि सऊदी अरब की जेल में 850 भारतीय बंद हैं, जिन्हें रमजान से पहले भारत वापस लाया जाएगा। मोदी ने कहा, ”सभी लोग हज के लिए सऊदी अरब गए थे, लेकिन उनमें से कुछ को गलतियों के कारण जेल में बंद कर दिया गया। मैंने सऊदी के क्राउन प्रिंस से आग्रह किया था कि वे इन सभी 850 लोगों को पवित्र महीना रमजान से पहले मुक्त कर दें। उन्होंने हमारा आग्रह स्वीकार कर लिया था।”

विपक्ष को जवाब देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वे कहते हैं कि आतंकी मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगा, क्योंकि देश में चुनाव चल रहे हैं। वे आरोप लगाते हैं कि चुनाव में फायदा लेने के लिए यह सब मैंने किया। उन्होंने कहा कि हर चीज को चुनाव के चश्मे से देखने की वजह से ही आज कांग्रेस और उसके साथियों की ये हालत हो गई है। पीएम मोदी ने कहा कि जब कोई आतंकी हमला होता है, तो सबको दर्द होता है। कश्मीर में हमला होता है भदोही रोता है।

देश का सम्मान होता है, तो महामिलावटी खुश नहीं होते
प्रधानमंत्री ने कहा- यदि देश में कोई आतंकी हमला होता है, तो सबको दुख होता है। जब हमारे वीर जवानों के पार्थिव शव तिरंगे में घर आते हैं, तो देश को दुख होता है। जब बदले के लिए सर्जिकल स्ट्राइक की जाती है, तो देशवासियों को गर्व होता है। लेकिन, महामिलावटी नेताओं को दुख होता है। देश का विश्वस्तर पर सम्मान होता है, तो महामिलावटी नेता बिल्कुल भी खुश नहीं होते।

Leave a Comment