गोपालगंज में मौत पर उपद्रव, बिगड़ा माहौल, मिनट भर में 20 हज़ार लोग सड़क पर, थाने की ज़बरदस्त पिटाई…

एसआइटी का हुआ गठन : एसपी
पुलिस अधीक्षक राशिद जमां ने कहा कि मामले में पुलिस कार्रवाई कर रही है. एसआइटी का गठन किया गया है. वारदात में शामिल अप’राधियों को किसी भी हाल पर बख्शा नहीं जायेगा. एसआइटी यूपी-बिहार में छा’पेमा’री कर रही है.

 

 बिहार के गोपालगंज में भोरे थाना क्षेत्र के खजुरहां गांव के पास गुरुवार की दोपहर में पेट्रोल पंप का निर्माण करा रहे कोल्ड स्टोरेज के मालिक को बाइक सवार अपराधियों ने गोलियों से भून दिया. शरीर में पांच गोलियां लगने के बाद मौके पर ही कारोबारी ने दम तोड़ दी. वारदात के बाद अपराधी फायरिंग करते हुए फरार हो गये.

 

 

मृतक कारोबारी भोरे थाना क्षेत्र के बसदेवा निवासी रामाश्रय सिंह थे, जो इलाके के बड़े कारोबारी बताये जा रहे हैं. वहीं अपराधी पेशेवर बताये जा रहे हैं. रंगदारी को लेकर हत्या करने की आशंका जताई जा रही है. उधर, कारोबारी के हत्या की सूचना इलाके में आग की तरह फैल गयी. व्यवसायियों ने भोरे बाजार को बंद कर दिया. कुछ ही मिनटों में करीब 20 हजार लोग रेफरल अस्पताल में पहुंच गये और शव को लेकर भोरे-मीरगंज सड़क जाम कर दिया. सड़क पर आगजनी कर उपद्रव की गयी. इस दौरान पुलिस टीम पर भी हमला किया गया.

 

 

 

आक्रोशित लोगों ने भोरे थाने पर पहुंचकर जमकर पथराव किया है. जिसमें थाने का ड्राइवर और दो पुलिसकर्मी घायल हो गये. जिससे माहौल बिगड़ा गया और वरीय पुलिस अधिकारियों को मौके पर पहुंचना पड़ा. स्थिति विस्फोटक होते देख हथुआ एसडीओ अनिल कुमार रमन, एएसपी अशोक कुमार चौधरी, इंस्पेक्टर एसके हिमांशु समेत सात थानों की पुलिस भोरे में कैंप की हुई थी.

 

 

वारदात के बाद शाम तक पुलिस शव को अपने कब्जे में नहीं ले सकी थी. वाहनों का परिचालन पूरी तरह से ठप था. वहीं घटना स्थल से पुलिस ने एक जिंदा करतूस और चार गोली का खोखा बरामद किया है. मृतक कारोबारी के परिजनों ने बताया कि रामाश्रय सिंह दुबई में कंस्ट्रक्शन का काम करते थे. पिछले कुछ सालों से भोरे में कोल्ड स्टोरेज व पेट्रोल पंप का कारोबार शुरू किया था.

 

 


उपद्रव में दो पुलिसकर्मी घायल

भोरे में बड़े कारोबारी की हत्या के बाद उपद्रव में दो पुलिसकर्मी घायल हो गये. भोरे थाने पर पथराव किया गया, जिसमें दो पुलिसकर्मी घायल हो गये. पुलिस ने इलाज के लिए उपद्रवियों से छिपाकर रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया. पथराव के बाद हेलमेट और अन्य सुरक्षा के साथ पुलिस अधिकारियों की टीम सड़क पर निकली.

 

 

एसआइटी का हुआ गठन : एसपी
पुलिस अधीक्षक राशिद जमां ने कहा कि मामले में पुलिस कार्रवाई कर रही है. एसआइटी का गठन किया गया है. वारदात में शामिल अपराधियों को किसी भी हाल पर बख्शा नहीं जायेगा. एसआइटी यूपी-बिहार में छापेमारी कर रही है.

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Bitnami