टारगेट पर ट्रिपल लोडिंग, मिया बीबी के साथ इतने साल से अधिक हुआ बच्चा तो का'टा दर्जनों चालान

बाइक या स्कूटर पर सिर्फ दो सवारी ही बैठ सकते हैं। दोनों सवारियों को हेलमेट लगाना अनिवार्य है। पांच वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों को हेलमेट पहनना चाहिए। मोटर वाहन एक्ट लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर बना है। वैसे चालान के समय परिस्थितियों को भी देखा जाता है। आदित्य प्रकाश वर्मा, एसपी ट्रैफिक सूरजकुंड निवासी जैनी श्रीवास्तव अपनी पत्नी और 8वीं में पढ़ने वाले बेटे के साथ खोराबार की तरफ जा रहे थे। आरटीओ के एक अफसर ने उनका ट्रिपलिंग में चालान कर दिया।
 
गौतम विहार निवासी अतुल वर्मा की बेटी तारामंडल क्षेत्र के एक स्कूल में आठवीं में पढ़ती है। वे पत्नी व बेटी के साथ जा रहे थे। सिक्टौर के पास आरटीओ अफसरों ने ट्रिपलिंग में चालान कर दिया। उम्र-सीमा तय होनी चाहिए बाइक या स्कूटर पर बच्चों को लेकर भी एक उम्र सीमा तय होनी चाहिए। बच्चा है तो उसे छोड़ कर कहां जाएं। बच्चा पैदा होते ही हर कोई कार खरीदने की हैसियत में नहीं होता। ट्रैफिक व आरटीओ के अफसर मनमानी कर रहे हैं।

आरटीओ प्रवर्तन डीडी मिश्रा का कहना है कि बाइक या स्कूटर पर नियम तो सिर्फ दो सवारी का ही है लेकिन चालान के समय अफसर कुछ व्यवहारिक पक्षों का भी ध्यान रखते हैं।
नए मोटर वाहन एक्ट के बाद मम्मी-पापा के साथ बाइक पर बेटा-बेटी भी बैठे तो ट्रैफिक पुलिस ट्रिपलिंग में चालान कर सकती है। अभी तक भले ही ट्रैफिक पुलिस या आरटीओ अफसर दो वयस्कों के साथ 10 साल तक के बच्चों को बाइक पर बैठे देखकर आंख मूंद लेते हों पर अब उनकी नजरें सख्त हैं। आरटीओ अफसरों ने तो बीते एक माह में ऐसे मामले में दो दर्जन से अधिक चालान कर चुके हैं।
 
मोटर वाहन एक्ट 2019 में बाइक और स्कूटर को टू-सीटर माना गया है। इस पर दो सवारी ही मान्य है। इसके अतिरिक्त बच्चा भी बाइक पर बैठा तो वह तीसरी सवारी होगा। बाइक या स्कूटर वैसे तो 200 से 300 किग्रा वजन उठा सकते हैं लेकिन नए एक्ट में दो व्यक्ति से अधिक नहीं बैठ सकते हैं। नियम के मुताबिक बाइक पर तीसरी सवारी बैठने पर दो हजार का जुर्माना लग सकता है। बिछिया अभिभावक संघ के सचिव संतोष श्रीवास्तव का कहना है कि सिनेमा हॉल से लेकर ट्रेन और बस में टिकट को लेकर उम्र की सीमा तय है।

Leave a Comment