अरब में फँसा हैं ये भारतीय कामगार, तुरंत मदद करे, ये हैं पता, और पहचान, जल्द सम्पर्क करें

कुवैत शहर से एक खबर सामने आई है, जहां एक भारतीय प्रवासी को बंधक बना कर उस पर सितम किया जा रहा है। कुवैत मे फंसा ये प्रवासी मनीष सिंह है जो बिहार के गोपालगंज का रहने वाला है. गोपालगंज के महम्मदपुर थाना क्षेत्र के देवकुली गांव के मनीष कुमार रोजी-रोटी के सिलसिले में कुवैत गया था, मगर युवक के साथ मारपीट करने की खबर मिली है। पीड़ित के परिजनों ने बताया कि कुवैत से वतन वापसी के लिए 5 लाख रुपए की मांग की जा रही है।

बताया जा रहा है कि पीड़ित युवक को सिगरेट से दागा जा रहा है, साथ ही पीड़ित के परिजनों ने वीडियो कॉलिंग कर युवक को प्रताड़ित किए जाने की तस्वीर मनीष की पत्नी को दिखाया गया है, कुवैत से वीडियो कॉल करने वाले का नाम मौला हैृ. कॉल करने वाला व्यक्ति उनके पति को मुक्त करने के लिए 2300 कुवैती दीनार यानि करीब 5 लाख रुपए की मांग कर रहा है. जिसके बाद पत्नी और उसके परिजनों ने जेडीयू के प्रदेश महासचिव पूर्व विधायक मंजीत कुमार सिंह से मिलकर मनीष के वतन वापसी की गुहार लगाई है.

सूत्रो के हवाले मिली जानकारी से पता चला कि मनीष दिसंबर 2018 में मुंबई से कुवैत के मुशाबत रेस्टोरेंट सिटी अलजहरा काम करने गए थे. लेकिन उन्हे वहां बंधक बना लिया गया है. काफी दिनों से जब मनीष का फोन उसकी पत्नी को नहीं आया तो चिंता होने लगी. कुछ दिन बाद कुवैत से उसके मोबाइल नंबर पर वीडियो कॉल कर उनके पति को दिखाया गया. जिसमें उनके पति का हाथ पैर बांध कर उसके साथ मारपीट की जा रही थी.

बता दे कि पूर्व विधायक मंजीत सिंह ने कहा कि पीड़ित के साथ मारपीट और बंधक बनाकर सिगरेट से दागने की सूचना जिला पदाधिकारी को दी गयी है. डीएम अनिमेष कुमार पराशर से भारत सरकार के विदेश मंत्रालय को अवगत करा जल्द से जल्द वतन वापसी की गुहार लगाई गयी है .

Leave a Comment