सऊदी सरकार के खिलाफ जाने पर गिरफ़्तार तीन सऊदी मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को नवाज़ा इस बड़े अवार्ड से

सऊदी जेल में बंद तीन सऊदी मानवाधिकार कार्यकर्ता जिन्हें सऊदी सरकार के खिलाफ जाने की वजह से गिरफ्तार कर लिया गया. अब इन बहादुर मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को ‘द राइट लाइवलीहुड’ पुरस्कार दिया गया. आपको बता दें की इस पुरस्कार को ‘अल्टरनेटिव नोबेल’ भी कहा जाता है. साथ ही आपको बता दें की सऊदी सरकार ने इन कार्यकर्ताओं को 10 से 15 की सज़ा सुनाई है.

अल जजीरा के मुताबिक, अब्दुल्ला अल-हामिद, मोहम्मद फहाद अल-कहटानी और वालीद अबू अल-खैर को संयुक्त रूप से राजनैतिक राजनीतिक व्यवस्था में सुधार करने के लिए उनके दूरदर्शी और साहसी प्रयासों के लिए राइट लाइवलीहुड अवॉर्ड फाउंडेशन द्वारा एक मिलियन क्रोनर ($ 113,400) नकद पुरस्कार से सम्मानित किया गया था सऊदी अरब में.”

सऊदी अरब में निरंकुश राजनीतिक प्रणाली में सार्वभौमिक मानवाधिकार सिद्धांतों के आधार में सुधार करने के बहादुरी भरे प्रयास के लिए सऊदी अरब के तीन कार्यकर्ताओं को इस अवार्ड से नवाज़ा गया.

अवार्ड जूरी ने कहा, “तीन विजेताओं ने शांतिपूर्ण तरीकों के माध्यम से इस सार्वभौमिक तंत्र को चुनौती दी है, सार्वभौमिक मानवाधिकारों की मांग की है, और एक संवैधानिक राजशाही की स्थापना की है. “

“अधिक बहुलवादी और लोकतांत्रिक समाज के लिए उनके साहसी संघर्ष के परिणामस्वरूप, तीन पुरुषों को 10 से 15 साल की कारावास की सजा सुनाई गई है और सभी वर्तमान में जेल में बंद हैं.

The post सऊदी सरकार के खिलाफ जाने पर गिरफ़्तार तीन सऊदी मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को नवाज़ा इस बड़े अवार्ड से appeared first on arabnama.

Leave a Comment