सऊदी और कुवैत है प्रवासी कर्मचारियों के लिए दुनिया के सबसे ‘ख़राब’ देश जबकि इस खाड़ी देश को मिला पहला स्थान

सऊदी अरब में 1.7 मिलियन प्रवासी काम करते है , जिनमें भारत, पाकिस्तान, फिलीपीन, बांग्लादेश से ज़्यादा प्रवासी नौकरी के लिए आते है इनमें हाई रैंक लेकर छोटी नौकरियां शामिल है. लेकिन प्रवासियों के लिए खाड़ी देशों की 2018 की रिपोर्ट में जो आंकड़े सामने आएं है वह बेहद चौकाने वाले है.  इस सूची में सऊदी का नाम सबसे ख़राब देशों में शामिल हुआ है. इस चीज़ से हर कोई वाकिफ है की सऊदी में प्रवासी नौकर और छोटी नौकरियों वाले प्रवासियों के साथ अत्याचार और भेद-भाव किया जाता है.

गल्फ बिज़नेस की रिपोर्ट के मुताबिक, बहरीन के द्वीप साम्राज्य को दूसरे वर्ष के लिए नेटवर्क इंटरनेशनल द्वारा सर्वेक्षण में वैश्विक विस्तार के शीर्ष स्थान पर रखा गया है, जबकि इसकी खाड़ी के साथियों ने सऊदी अरब और कुवैत देश करार दिया है.

2018 प्रवासियों के अंदरूनी सर्वेक्षण में पुरुष और महिला प्रतिभागियों ने अधिकांश श्रेणियों में एक मजबूत प्रदर्शन के बाद बहरीन को पहला स्थान दिया गया. हालांकि, बहरीन पिछले साल 32 वें स्थान पर जीवन की गुणवत्ता के लिए अपनी रैंकिंग में सुधार किया है.  यह रैंकिंग 20  वे स्थान पर है.

GULFBUSINESS.COM

खाड़ी में कहीं और, ओमान 31 वें स्थान पर, कतर 38 वें स्थान पर और संयुक्त अरब अमीरात 40 वें स्थान पर है. जबकि सऊदी 67 वें  स्थान पर है. इसी के साथ कुवैत 68 वें साथ पर है  यहाँ भी प्रवासी कर्मचारियों पर काफी अत्याचारों के मामले सामने आते रहते है.

सऊदी इस साल यह निजी वित्त (31 वें) को छोड़कर सभी इंडेक्स के निचले पांच में रैंकिंग के बाद 67 वें स्थान पर रहा. पांच प्रवसियों में से तीन का कहना है कि उनकी डिस्पोजेबल घरेलू आय लागत को कवर करने के लिए आवश्यक थी, लेकिन देश में जीवन के साथ सामान्य संतुष्टि को 40 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने नकारात्मक रूप से रेट किया।

The post सऊदी और कुवैत है प्रवासी कर्मचारियों के लिए दुनिया के सबसे ‘ख़राब’ देश जबकि इस खाड़ी देश को मिला पहला स्थान appeared first on arabnama.

Leave a Comment