आपकी बिटिया की मौ'त, नही रही काजल बिटिया, ACID से न'हला'या दरिं'दों ने

एसिड कांड की पीड़िता काजल अब हमारे बीच नहीं रही। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।
भागलपुर के निवासी होने के नाते हमसभों का यह मानवीय कर्तव्य है कि हम समाजिक सौहार्द को बनाए रखें। इस संवेदनशील समय में कुछ लोग हमारे बीच ऐसे भी हैं जो इस घटना का निजी लाभ के लिए गलत इस्तेमाल करेंगे। प्रशासन के तरफ से हरसंभव प्रयास किया गया कि काजल को बचाया जा सके लेकिन होनी को कौन टाल सकता है, शायद नियती को यही मंजूर था। अब हमें यही चाहिए कि हम इस दुखद: प्रस्थिति में मृतिका के परिवार को सहानुभूति दे और भगवान से यह प्रार्थना करें कि भगवान उनकी आत्मा को शांति दे और उनके परिवार को हिम्मत दे जिससे वे विचलित न होकर इस दुखद: समय का सामना कर सके।

हम भागलपुर के युवा मृतिका के परिवार का साथ दे और यह प्रण लें कि ऐसी घटना दुबारा भागलपुर जिले में न हों।

उक्त ऐसिड कांड में दोनो मुख्य अभियुक्तो को पुलिस गिरफ़्तार कर पहले ही जेल भेज चुकी है। जैसा की SSP सर ने बताया कि प्रशासन द्वारा मृतिका को हर संभव सहायता प्रदान की गयी । वाराणसी के ओपेल अस्पताल से रेफर करने पर दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल तक प्रशासन के द्वारा एयर ऐम्ब्युलन्स उपलब्ध कराया गया ।
समाज के हर ज़िम्मेदार नागरिक से अनुरोध है कि समाज में शांति व्यवस्था बनाये रखने हेतु पुलिस प्रशासन का सहयोग करें । अफ़वाह की ओर ना जायें , सत्यता और समाज के हित को समझें । ताकि हमारे समाज में अमन शांति की व्यवस्था बनी रह सके ।
साइबर सेल ।।। भागलपुर

Leave a Comment